Sunday , January 20 2019
Breaking News
Home / Home 1 / हथियारों के दलाल मुझे निशाना बना रहे हैं: नरेंद्र मोदी

हथियारों के दलाल मुझे निशाना बना रहे हैं: नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली, 10 जनवरी (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि हथियार सौदों के दलाल और बिचौलिए उन्हें व्यक्तिगत रूप से निशाना बना रहे हैं और इस काम में देश और विदेश में सक्रिय बहुत से लोग उनका साथ दे रहे हैं।
प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान भ्रष्टाचार को संस्थागत रूप दिया गया था, उनकी सरकार ने ईमानदारी को संस्थागत रूप देने का प्रयास किया है।
तमिलनाडु के भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिए संवाद करते हुए मोदी ने कहा कि रक्षा खरीद में कांग्रेस शासन के दौरान बहुत से दलाल और बिचौलिए काम कर रहे थे। इनके खिलाफ जब उन्होंने सफाई अभियान चलाया तो उन्हें इस बात का भान था कि यह कितना जोखिम भरा काम है। ये दलाल और बिचौलिए बहुत ताकतवर हैं और समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उनके मददगार मौजूद हैं। जब इनका धंधा बंद हुआ तो उन्होंने मुझे और मेरी प्रतिष्ठा पर हमला बोला दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके ऊपर चाहे कितना ही कीचड़ क्यों नहीं उछाला जाए वह देश की रक्षा व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए कोशिश जारी रखेंगे।
मोदी ने कहा कि कांग कुशासन और भ्रष्टाचार से भी अधिक चिंताजनक बात इस पार्टी द्वारा रक्षा क्षेत्र को पहुंचाया गया नुकसान था। कोई भी रक्षा खरीद तब तक नहीं होती थी जब तक कि सौदेबाजी नहीं हो जाए। सौदेबाजी के इस खेल में राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया गया। रक्षा खरीद दलालों और बिचौलियों का अड्डा बन गया था। प्रधानमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय हित को प्राथमिकता देते हुए उन्होंने ऐसे तत्वों का सफाया किया और सेना के लिए आवश्यक हथियारों की खरीद का काम आगे बढ़ाया।
हथियारों के दलाल क्रिश्चियन मिशेल का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि भारत लाए जाने के बाद से यह दलाल नए नए खुलासे कर रहा है। यह तथ्य सामने आ रहा है कि राफेल युद्धक विमानों की खरीद का काम दस वर्षों तक इसलिए रुका रहा क्योंकि कांग्रेस पार्टी और उसके नेता सौदेबाजी नहीं कर पाए। पड़ोसी देशों ने अपनी वायुसेना की ताकत काफी बढ़ा ली लेकिन तत्कालीन सरकार ने भारतीय वायुसेना की मांग पर कोई कार्रवाई नहीं की।
प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि मिशेल के संबंध कांग्रेस पार्टी पर काबिज परिवार से हैं। देश को जानने का अधिकार है कि मिशेल को मंत्रिमडल की सुरक्षा सम्बन्धी समिति की बैठक की जानकारी कौन देता था। मिशेल को यह कैसे पता चलता था कि रक्षा खरीद की फाइल कहां पहुंच रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि मिशेल कांग्रेस नेताओं पर असर रखता था।
मोदी ने कहा कि सभी दलाल और बिचौलिए विदेशी नहीं हैं। देश में भी बहुत से ‘दलाल मामा’ हैं जो सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का पैसा हड़प जाते हैं। लाभार्थियों तक बैंक में सीधे पहुंचाने के जरिए इस दलालों और बिचौलियों का धंधा बंद किया गया है, इसीलिए वे खार खाए बैठे हैं। बैंक में सीधे भुगतान के जरिए 90 हजार करोड़ रुपये की हेराफेरी रोकी गई है। जिनकों इससे नुकसान पहुंचा है वे लोग उनकी सरकार के खिलाफ लामबंद होकर दुष्प्रचार अभियान चला रहे हैं।

About khabarworld

Check Also

आम चुनाव के बारे में अभी कोई निर्णय नहीं

Share this on WhatsAppनई दिल्ली (हि.स.)। चुनाव आयोग (ईसीई) ने शुक्रवार स्पष्ट किया है कि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *